उत्तराखंड गौरा देवी कन्या धन योजना

0
202
Uttarakhand Gaura Devi Kanya Dhan Yojana

उत्तराखंड की गौरी देवी कन्या धन योजना (Uttarakhand Gaura Devi Kanya Dhan Yojana) महत्वपूर्ण योजनाओं में से एक है। इस योजना के अंतर्गत गरीबी रेखा से नीचे (Below Poverty Line – BPL) जीवन-यापन कर रहे परिवारों की बेटियों को साक्षर बनाने या पढ़ाई के प्रति जागरूक करने के लिए राज्य सरकार 50,000 रुपये की वित्तीय सहायता प्रदान करेगी।

इस योजना का मुख्य उद्देश्य कन्याओं को आत्मनिर्भर बनाना,कन्या भ्रूण हत्या को खत्म करना और प्रदेश में लड़कियों और लड़कों के बीच लिंगानुपात में सुधार करना है। इस योजना में परिवार की अधिकतम दो लड़कियों को ही FD के रूप में 50,000 रूपये दिये जाएंगे। जिसका इस्तेमाल उनकी शादी के समय किया जा सकता है।

उत्तराखंड गौरा देवी कन्या धन योजना (Apply Online)

  • सबसे पहले इसकी आधिकारिक वेबसाइट escholarship.uk.gov.in पर जाएं ।
  • इसके बाद आपके सामने गौरी देवी कन्या धन स्कीम का लिंक दिखाई देगा जैसा की नीचे दिखाया गया है।
    Uttrakhan gauri devi kanya dhan yojana form
  • फॉर्म में सभी डीटेल सही से भरें और सभी जानकारी ठीक से भरकर “Submit” बटन पर क्लिक कर दे, जिसके बाद आपका रजिस्ट्रेशन पूरा हो जाएगा।

उत्तराखंड गोरा देवी कन्या धन योजना

  • छात्रा उत्तराखंड की मूल निवासी होनी चाहिए।
  • छात्रा का नाम BPL list में होना चाहिए।
  • छात्रा का उत्तराखंड विद्यालय बोर्ड से 12वीं पास होना जरूरी है।
  • छात्रा के परिवार की सालाना आय ग्रामीण क्षेत्र में 15,976 रुपये और शहरी क्षेत्र में 21,206 रुपये से अधिक नहीं होनी चाहिए।

जरूरी दस्तावेज़

  • BPL कार्ड की अटेस्ट कॉपी
  • आय प्रमाण (Income Certificate) पत्र की कॉपी
  • जाति प्रमाण पत्र (Caste Certificate) की कॉपी
  • हाई स्कूल की मार्कशीट
  • अविवाहित होने का प्रमाण पत्र
  • बैंक पासबुक के पहले पेज की कॉपी
  • पहचान पत्र-वोटर कार्ड/आधार या राशन कार्ड की कॉपी
  • फोटो/ईमेल-आईडी/मोबाइल नंबर
  • 12वीं कक्षा का रोल नंबर

जिलाअनुसार आवंटित राशि

  • देहरादून – 2 करोड़ 77 लाख 50 हजार रुपए
  • पौड़ी – 10 करोड़
  • टिहरी – 33 करोड़ 60 लाख रुपए
  • उत्तरकाशी – 14 करोड़ 25 लाख रुपए
  • रुद्रप्रयाग – 50 लाख रुपए
  • चमौली – 3 करोड़ 20 लाख 75 हजार रुपए
  • हरिद्वार – 58 करोड़ 95 लाख रुपए
  • यूएसनगर – 4 करोड़, 97 लाख 55 हजार रुपए
  • नैनीताल – 3 करोड़, 40 लाख, 50 हजार रुपए
  • अलमौड़ा – 4 करोड़, 7 लाख 90 हजार रुपए
  • बागेश्वर – 1 करोड़ 30 लाख 25 हजार रुपए
  • पिथौरागढ़ – 1 करोड़ 25 लाख रुपए
  • चपावत – 55 लाख 50 हजार रुपए

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here